महत्वपूर्ण सूचनाएं

महत्वपूर्ण निर्देश

संयुक्त प्रवेश परीक्षा-2014 हेतु आवेदन आनलाइन एवं आफलाइन (ओ0एम0आर0 शीट) द्वारा किया जा सकता है। आनलाइन आवेदन हेतु परिषद की वेबसाइट www.jeecup.org पर जायें। ऐसे अभ्यर्थी जो ओ0एम0आर0 द्वारा आवेदन करेंगे उन्हें अपनी न्यूनतम अर्हता एवं आरक्षण सम्बन्धी प्रमाण-पत्र (यदि लागू हों) को परीक्षा के उपरान्त 15 दिनों के अन्दर परिषद की वेबसाइट www.jeecup.org पर अपना रजिस्ट्रेशन कर अपलोड करना होगा। विस्तृत विवरण हेतु वेबसाइट को नियमित रूप से देखते रहें।

  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों के लिए रु0 250.00 तथा सामान्य एवं अन्य पिछड़े वर्गं के अभ्यर्थियों के लिए रु0 400.00 है। विलम्ब शुल्क के साथ आवेदन-पत्र भरने का कोई प्राविधान नहीं है। आवेदन शुल्क बैंक आफ बड़ौदा के किसी भी शाखा में चालान द्वारा अथवा नेट बैकिंग द्वारा जमा किया जा सकता है।
  • वर्ष-2014 में अर्हकारी परीक्षा में सम्मिलित हो रहे अभ्यर्थी भी संयुक्त प्रवेश परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं, परन्तु चयनित होने की स्थिति में काउन्सिलिंग के समय उत्तीर्ण होने का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा।
  • अभ्यर्थियों को संस्था एवं पाठ्यक्रम का आवंटन कांउसिलिंग द्वारा अभ्यर्थी की मेरिट, दिये गये विकल्प एवं सीटों की उपलब्धता के आधार पर किया जायेगा। एक बार अभ्यर्थी को सीट आवंटित हो जाने पर पाठ्यक्रम या संस्था में कोई परिवर्तन नहीं होगा। काउन्सिलिंग के आधार पर अभ्यर्थी को सीट आवंटन हो जाने पर यदि अभ्यर्थी प्रवेश नहीं लेता है तो काउन्सिलिंग में जमा की गयी सिक्योरिटी वापस नहीं की जायेगी।
  • संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश द्वारा संचालित ”संयुक्त प्रवेश परीक्षा“ में सम्मिलित होने से अभ्यर्थी उन सभी नियमोें एवं प्रतिबन्धों से आबद्ध होंगे, जो विभिन्न स्थानों पर दिये गये हैं या जिन्हें समय-समय पर परिषद या राज्य सरकार परिवर्तित करे या लागू करे।
  • इस विवरण-पुस्तिका में दिये गये विवरण अभ्यर्थियों के सूचनार्थ तथा निर्देशार्थ हैं। अतः इसका उपयोग वर्णित कार्य के अतिरिक्त किसी अन्य कार्य के लिये मान्य नहीं होगा। वाद की स्थिति में न्यायिक क्षेत्र लखनऊ में स्थित न्यायालय ही मान्य है। परीक्षार्थियों के सम्बन्ध में परिषद का निर्णय अन्तिम होगा तथा वे परिषद के नियम मानने हेतु बाध्य होंगे।
  • यदि किसी अभ्यर्थी के आवेदन-पत्र में प्रस्तुत विवरण असत्य पाये जाते हैं तो अभ्यर्थी का अभ्यर्थन/प्रवेश स्वतः निरस्त हो जायेगा। अभ्यर्थी का चयन केवल इस वर्ष के लिये ही होगा। यदि अभ्यर्थी किन्हीं कारणोंवश (अघोषित परीक्षाफल, अपूर्ण परीक्षाफल, पूरक परीक्षा, अंकतालिका न मिलने, टी.सी. न मिलने, अन्य वाँछित प्रमाण-पत्र न प्रस्तुत कर पाने आदि।) प्रवेश हेतु निर्धारित अन्तिम तिथि तक प्रवेश की सभी औपचारिकतायें पूर्ण कर प्रवेश नहीं ले पाता है, तो उसका चयन स्वतः निरस्त हो जायेगा और इसका उत्तरदायित्व परिषद पर नहीं होगा तथा उसे अगले वर्ष प्रवेश नहीं दिया जायेगा।
  • इस विवरण के अतिरिक्त संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश, लखनऊ अथवा उसकी ओर से अन्य किसी भी संस्थान द्वारा अभ्यर्थियों के मार्गदर्शन/गाइडेन्स हेतु किसी प्रकार का कोई प्रकाशन नहीं किया गया है। यदि कोई संस्थान परिषद के नाम का दुरुपयोग करता है तो उसके विरुद्ध कानूनी कार्यवाही की जा सकती है।
  • संस्थाओं से सम्बन्धित विस्तृत विवरण सम्बन्धित संस्थाओं की वेबसाईट पर देखा जा सकता है।
  • प्राविधिक शिक्षा परिषद, उ0प्र0, लखनऊ से सम्बद्ध राजकीय/अनुदानित/निजी क्षेत्र की संस्थाओं में चल रहे पाठ्यक्रमों का विवरण, कोड, पाठ्यक्रम गु्रप, प्रवेश क्षमता सारिणी-2 (क एवं ख) में दी गई है। वास्तविक प्रवेश क्षमता तथा संस्थाओं में चल रहे पाठ्यक्रमों का विवरण शासन द्वारा निर्गत शासनादेश/प्राविधिक शिक्षा परिषद द्वारा निर्गत आदेशों के अनुसार होगा।
  • पाठ्यक्रम एवं सीटों की संख्या शासन के निर्णय के अनुसार परिवर्तित हो सकती है। राज्य सरकार अथवा प्राविधिक शिक्षा परिषद, उ0प्र0 किसी भी पाठ्यक्रम को बन्द अथवा प्रारम्भ कर सकती है।
  • राजकीय पालीटेक्निक, कानपुर, राजकीय महिला पालीटेक्निक, लखनऊ, डा0 अम्बेडकर इंस्टी0 फार फिजिकली हैण्डीकैप्ड, कानपुर, एन0आर0आई0पी0टी0, इलाहाबाद में मल्टी प्वाइन्ट इन्ट्री एवं क्रेडिट सिस्टम प्रणाली लागू है।
  • संयुक्त प्रवेश परीक्षा (पालीटेक्निक)-2014 के सम्बन्ध में समस्त सूचनायें परिषद की वेबसाइट के माध्यम से निर्गत की जायेंगी। अभ्यर्थियों से अनुरोध है कि प्रवेश परीक्षा सम्बन्धी विभिन्न सूचनाओं/निर्देशों हेतु परिषद की वेबसाइट नियमित रूप से देखते रहें।
  • संयुक्त प्रवेश परीक्षा के आधार पर चयनित एवं काउन्सिलिंग द्वारा सीट आवंटन होने के पश्चात संस्था में प्रवेश हेतु प्राविधिक शिक्षा परिषद/ए0आई0सी0टी0ई0 द्वारा निर्धारित शैक्षिक अर्हता पूर्ण करना आवश्यक होगा।

संयुक्त प्रवेश परीक्षा (पालीटेक्निक) - 2014

    प्रस्तावना

  • प्राविधिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश से सम्बद्ध राजकीय/अनुदानित/निजी क्षेत्र की संस्थाओं में चल रहे विभिन्न पाठ्यक्रमों (सारिणी-2 (क एवं ख) एवं सारिणी-3) में प्रवेश हेतु संयुक्त प्रवेश परीक्षा (पालीटेक्निक)-2014 का आयोजन ‘‘संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश, लखनऊ’’ के तत्वावधान में होगा। प्राविधिक शिक्षा परिषद, उ0प्र0 से सम्बद्ध संस्थाओं में प्रवेश हेतु अभ्यर्थियों की प्रवेश परीक्षा में प्राप्तांकों के आधार पर योग्यताक्रम सूची तैयार की जायेगी एवं आरक्षण व्यवस्था सुनिश्चित करते हुये काउन्सिलिंग के द्वारा संस्था एवं पाठ्यक्रम का आवंटन किया जायेगा। काउन्सिलिंग के सम्बन्ध में प्रक्रिया एवं विस्तृत निर्देश परीक्षाफल घोषित होने के पश्चात समाचार-पत्रों एवं परिषद की वेबसाइट के माध्यम से प्रसारित किये जायेंगे।
  • पाठ्यक्रम 

  • उ0प्र0 में चल रहे पालीटेक्निक संस्थाओं के नाम तथा कोड संख्या, विभिन्न पाठ्यक्रम ग्रुपों के अन्तर्गत प्रथम एवं द्वितीय पाली में चल रहे पाठ्यक्रमों के नाम एवं पाठ्यक्रमवार उपलब्ध सीटों का विवरण दिये गये हैं।
  • प्रवेश वरीयता

  • जिन्होंने प्राविधिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश द्वारा प्रवेश हेतु निर्धारित अर्हकारी परीक्षा उत्तर प्रदेश में स्थित मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्था से उत्तीर्ण अथवा वे अभ्यर्थी जिन्होंने अर्हकारी परीक्षा उ0प्र0 के बाहर किसी अन्य प्रदेश से उत्तीर्ण की हो, किन्तु जो उत्तर प्रदेश के मूल निवासी हों अथवा केन्द्रीय सरकार के उन कर्मचारियों की संतान, जिनकी तैनाती उत्तर प्रदेश में स्थित कार्यालय में हो अथवा भारत सरकार द्वारा नामित विदेशी छात्र हो।
    वे अभ्यर्थी जिन्होंने अर्हकारी परीक्षा उत्तर प्रदेश के बाहर किसी अन्य प्रदेश से उत्तीर्ण की है, किन्तु जो उत्तर प्रदेश के निवासी हों, प्रमाण-पत्र उत्तर प्रदेश के जनपद, जिसमें अभ्यर्थी के माता-पिता मूल/स्थायी निवासरत हैं, के जिलाधिकारी/सक्षम अधिकारी से निर्धारित प्रारूप प्रमाण-पत्र संख्या-7 पर प्रस्तुत करना होगा।
    उत्तर प्रदेश के बाहर के अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के ऐसे अभ्यर्थी, जिन्होंने अर्हकारी परीक्षा उत्तर प्रदेश से उत्तीर्ण की है, को आरक्षण का लाभ अनुमन्य करने के लिए उ0प्र0 के वर्तमान जनपद, जिसमें अभ्यर्थी निवासरत है, के जिलाधिकारी से निर्धारित प्रारूप पर प्रमाण पत्र संख्या-6 प्रस्तुत करना होगा।
  • उपरोक्त श्रेणी के अभ्यर्थियों को प्रवेश देने के बाद यदि प्रवेश हेतु स्थान रिक्त रहते हैं तो अन्य प्रदेश के अभ्यर्थियांे को योग्यता के आधार पर प्रवेश दिये जाने पर विचार किया जायेगा। यदि कोई विदेशी छात्र संयुक्त प्रवेश परीक्षा में चयनित हो जाता है तो उसके प्रवेश हेतु उसके देश द्वारा नामित/संस्तुत होना तथा केन्द्र सरकार द्वारा उसके प्रवेश हेतु नामित/संस्तुत/सहमति होना आवश्यक है। वर्ष-2014 में अर्हकारी परीक्षा में सम्मिलित हो रहे अभ्यर्थी भी संयुक्त प्रवेश परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं, परन्तु चयनित होने की स्थिति में प्रवेश के समय उत्तीर्ण होने का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। ऐसे अभ्यर्थी आवेदन-पत्र में निर्धारित स्थान पर इसका उल्लेख करें।
  • विशेष ध्यानाकर्षण  :

  • आरक्षण वर्ग के अन्तर्गत चयनित अभ्यर्थी यह भली-भाँति नोट कर लें कि चयनित घोषित होने के बाद भी उन्हें प्रवेश तभी दिया जायेगा, जब वे आरक्षण सम्बन्धी प्रमाण पत्र परिषद/उत्तर प्रदेश शासन द्वारा निर्धारित नवीनतम् प्रारूपों पर निर्धारित तिथि तक प्रस्तुत करेंगे। निर्धारित प्रारूपों पर प्रमाण पत्र प्रस्तुत न कर पाने की दशा में उनका चयन निरस्त माना जायेगा और वे प्रवेश के पात्र नहीं होंगे तथा इस सम्बन्ध में उनका कोई भी दावा मान्य नहीं होगा।

प्रवेश हेतु पाठ्यक्रम का नाम, कोड, अवधि, न्यूनतम शैक्षिक अर्हता, प्रवेश परीक्षा के विषय तथा परीक्षा में प्रश्नों का प्रतिशत:

आवेदनकर्ता कृपया निम्न सारिणी-1 का भली-भाँति अध्ययन कर सुनिश्चित कर लें कि वह जिस पाठ्यक्रम ग्रुप में आवेदन करना चाहते हैं, उससे सम्बन्धित निर्धारित अर्हता एवं अन्य शर्तें पूर्ण करते हैं:-

  • निम्न सारिणी-1 में दिये गये पाठ्यक्रमों में प्रवेश हेतु प्रवेश परीक्षा, पाठ्यक्रम विशेष में प्रवेश के लिए न्यूनतम अर्हता के लिए निर्धारित पाठ्यचर्या के अन्तर्गत होगी।
  • गु्रप ”B“ के अन्तर्गत एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम के लिये यदि कोई अभ्यर्थी निर्धारित अर्हता के अन्तर्गत हाईस्कूल परीक्षा कृषि विषय के साथ न होकर इन्टरमीडिएट परीक्षा कृषि विषय के साथ उत्तीर्ण हो तो वह उक्त पाठ्यक्रम हेतु न्यूनतम शैक्षिक अर्ह माना जायेगा।
  • कृपया निम्न सारिणी-1 का भली-भाँति अध्ययन कर सुनिश्चित कर लें कि वह जिस पाठ्यक्रम ग्रुप में आवेदन करना चाहते हैं, उससे सम्बन्धित निर्धारित अर्हता एवं अन्य शर्तें पूर्ण करते हैं:-
पाठ्0 ग्रुप पाठ्यक्रम का नाम पाठ्य0 कोड अवधि न्यूनतम शैक्षिक अर्हता प्रवेश परीक्षा में परीक्षा
विषय तथा प्रश्नों का
प्रतिशत
1 2 3 4 5 6
A डिप्लोमा इंजीनियरिंग/टक्नोलॉजी पाठ्यक्रम(सारिणी-2) 101 से 132, 159 101 से 232 तीन वर्षीय 10वीं कक्षा न्यूनतम 35% अंक के साथउत्तीर्ण। खण्ड-एक- गणित -50%
खण्ड-दो-भौतिक तथा
रसायन-50%
B एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग 157 तीन वर्षीय 10वीं कक्षा कृषि के साथ न्यूनतम् 35% अंक के साथ उत्तीर्ण। खण्ड-एक-गणित-50%
खण्ड-दो-भौतिक विज्ञान तथा
रसायन तथा कृषि-50%
C 1. फैशन डिजाइनिंग एण्ड गारमेन्ट टेक्नोलॉज 133, 233 तीन वर्षीय 10वीं कक्षा न्यूनतम 35% अंक के साथ उत्तीर्ण। अंग्रेजी एवं हिन्दी
कम्प्रेहेन्सन-20%
रीजनिंग एण्ड इन्टेलीजेन्सी-50%
जनरल अवेयरनेस-30%
2. होम साइंस 134, 234 दो वर्षीय तदैव
3. टेक्सटाइल डिजाइन 135, 235 तीन वर्षीय तदैव
4. टेक्सटाइल डिजाइन (प्रिंटिंग) 136, 236 तीन वर्षीय तदैव
D 1. माडर्न आफिस मैनेजमेंट एण्ड सेक्रेट्रियल प्रैक्टिस 137, 237 दो वर्षीय इन्टरमीडिएट या उसके समकक्ष (हाईस्कूल अथवाइन्टरमीडिएट परीक्षा में हिन्दी तथा अंग्रेजी विषयों का होना अनिवार्य है।) 10+2/इन्टरमीडिएट उत्तीर्ण अंग्रेजी एवं हिन्दी
कम्प्रेहेन्सन-30%
रीजनिंग एण्ड
इन्टेलीजेन्सी-35%
न्यूमेरिकल एबिलिटी-10%
जनरल अवेयरनेस-25%
2. लाइब्रेरी एण्ड इनफारमेशन साइंस 138, 238 दो वर्षीय 10+2/इन्टरमीडिएट उत्तीर्ण
E डिप्लोमा इन फार्मेसी 139 दो वर्षीय 10+2 Examination (Academic Stream) in science न्यूनतम् 50% अंक के साथ उत्तीर्ण तथा आरक्षित वर्ग (अनुसूचति जाति एवं अनुसूचित जनजाति) के लिए न्यूनतम् 45% अंक के साथ उत्तीर्ण। खण्ड-एक-फिजिक्स,
केमेस्ट्री-50%
खण्ड-दो-बायलोजी
या गणित-50%
F पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन बायोटेक्नॉलोजी(टिशू कल्चर) 140, 240 एक वर्षीय बी.एस.सी., बायोलोजी, केमेस्ट्री/बायोकेमेस्ट्री विषयों के साथ उत्तीर्ण। रसायन शास्त्र-50%
जन्तु विभान-25%
वनस्पति शास्त्र-25%
G 1. पी.जी. डिप्लोमा इन कम्प्यूटर एप्लीकेश 141, 241 दो वर्षीय स्नातक उपाधि अंग्रेजीकम्प्रेहेन्सन-20%
न्यूमेरिकल एबेलिटी-15%
रीजनिंग -30%
जनरल इन्टेलीजेन्सी-20%
जनरल अवेयरनेस-15%
2. पी.जी. डिप्लोमा इन मार्केटिंग एण्ड सेल्स मैनेजमेंट 142, 142 एक वर्षीय तदैव
3. पी.जी. डिप्लोमा इन कस्टमर सर्विस मैनेजमेंट 143, 243 एक वर्षीय तदैव
4. पी.जी. डिप्लोमा इन ब्यूटी एण्ड हैल्थ केयर 144, 244 एक वर्षीय तदैव
5. पी.जी. डिप्लोमा इन टूरिज्म एण्ड ट्रेवल मैनेजमेंट 145, 245 एक वर्षीय तदैव
6. पी.जी. डिप्लोमा इन एडवरटाइजिंग एण्ड पब्लिक रिलेशन 146, 246 एक वर्षीय तदैव
7. पी.जी. डिप्लोमा इन टेक्सटाइल डिजाइन 147, 247 एक वर्षीय तदैव
8. पी.जी. डिप्लोमा इन फैशन टेक्नोलॉजी 148, 248 एक वर्षीय तदैव
9. डिप्लोमा इन मास कम्यूनिकेशन 149, 249 दो वर्षीय तदैव
10. पी.जी. डिप्लोमा इन कम्प्यूटर हार्डवेयर एण्ड नेटवर्किंग 150, 250 एक वर्षीय तदैव
11. पी.जी. डिप्लोमा इन वेब डिजाइन 151, 251 एक वर्षीय तदैव
12. पी.जी. डिप्लोमा इन एकाउण्टेंसी (विद कम्प्यूटराईज्ड एकाउन्ट एण्ड टैक्सेशन) 152, 252 एक वर्षीय तदैव
13. पी.जी. डिप्लोमा इन रिटेल मैनेजमेन्ट 153, 253 एक वर्षीय तदैव
H डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेन्टएण्ड कैटरिंग टेक्नॉलोजी 154, 254 तीन वर्षीय 12वीं कक्षा न्यूनतम् 50% अंक के साथ उत्तीर्ण तथा आरक्षित वर्ग (अनुसूचति जाति एवं अनुसूचित जनजाति) के लिए न्यूनतम् 45% अंक के साथ उत्तीर्ण। रीजनिंग एण्ड लाजिकल
डिस्कशन - 25%
न्यूमेरिकल एबेलिटी एण्ड
साइंटिफिक एप्टीच्यूड - 25%
अंग्रेजी - 25%
सामान्य ज्ञान - 25%
I 1. डिज्लोमा इन एयरक्राफ्ट मेन्टीनेन्स इंजीनियरिंग 155 तीन वर्षीय 10+2/ इन्टरमीडिएट भौतिक, रसायन एवं गणित विषयों के साथ उत्तीर्ण अथवा समकक्ष तथा भौतिक, रसायन एवं गणित में 50% (एग्रीगेट) अंक अनिवार्य। खण्ड-एक-फिजिक्स,
केमेस्ट्री - 50%
खण्ड-दो-गणित - 50%
2. डिप्लोमा इन एयरक्राफ्ट मेन्टीनेन्स इंजी0 (एवियोनिक्स) 158 तीन वर्षीय
J पोस्ट डिप्लोमा इन इनफारमेशनटेक्नॉलोजी 156, 256 एक वर्षीय प्राविधिक शिक्षा परिषद, उ0प्र0, से सम्बद्ध संस्था से इंजीनियरिंग की किसी भी ब्रांच में डिप्लोमा। अंग्रेजी कम्प्रेहेन्सन -20%
न्यूमेरिकल एबेलिटी - 15%
रीजनिंग - 30%
जनरल इन्टेलीजेन्सी -20%
जनरल अवेरनेस - 15%
K डिप्लोमा इंजी0 पाठ्यक्रममें द्वितीय वर्ष में प्रवेश (लेटरल इन्ट्री) सारिणी-3 के अनुसार दो वर्षीय इण्टरमीडिएट विज्ञान अथवा इण्टरमीडिएट विज्ञान व्यावसायिकध्प्राविधिक विषयों के साथ उत्तीर्ण अथवा 10वीं उत्तीर्ण के साथ दो वर्षीय आई0टी0आई0 उपयुक्त विशेषज्ञता के साथ उत्तीर्ण। खण्ड-एक: हाईस्कूल स्तर की गणित, भौतिकी एवं रसायन - 40%
खण्ड-दो: इंजीनियरिंग - 60%
(सिविल/ इलेक्ट्रिकल/ इलेक्ट्रानिक्स/ मैकेनिकल/ आई.टी./ प्रिटिंग टेक्नोलॉजी/ फैशन डिजाइन एण्ड गारमेन्ट टेक्नोलॉजी में प्रत्येक से सम्बन्धित 60 प्रश्नों के सात अलग अलग उपखण्डों में से आई0टी0आई0 उत्तीर्ण अभ्यर्थी अपनी टेªड से सम्बन्धित उपखण्ड तथा अन्य अभ्यर्थी किसी एक उपखण्ड को हल करेंगे। (देखें सारिणी-3))

    आयु

  • प्रवेश परीक्षा के माध्यम से प्रवेश चाहने वाले अभ्यर्थियों के लिये आयु सीमा का काई प्रतिबन्ध नही है।
  • स्वास्थ्य

  • प्रवेश परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को शारीरिक स्वस्थता के न्यूनतम मानक को पूर्ण करना होगा।
  • शारीरिकस्वस्थता जाँच

  • प्राविधिक शिक्षा परिषद से सम्बद्ध संस्थाओं में चल रहे डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश हेतु अभ्यर्थी को मानसिक तथा शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए एवं उसके शरीर में ऐसी कोई कमी नहीं होनी चाहिए, जिसके कारण वह प्रोफेशन का कार्य दक्षता से सम्पन्न न कर सके। प्रत्येक अभ्यर्थी को प्रवेश लेने से पूर्व चिकित्सक द्वारा निर्गत स्वस्थता प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा।
  • प्रत्येक नेत्र बिना चश्मे या चश्मे के साथ दिन के प्रकाश में परीक्षण किये जाने पर चिकित्सा मानक से कम नहीं होना चाहिए।
  • ग्रुप-प् में अध्ययन हेतु अभ्यर्थी को वर्णान्धता (colour blindness) एवं किसी भी शारीरिक अक्षमता से मुक्त होना आवश्यक है।
  • विकलाँग एवंअक्षम अभ्यर्थियों हेतु सुविधाएं

  • विकलांग अभ्यर्थियों हेतु एक विशिष्ट संस्थान ‘‘डा0 अम्बेडकर इन्स्टीट्यूट आफ टेक्नॉलोजी फार हैण्डीकैप्ड, उ0प्र0, कानपुर’’ में स्थापित है। इस संस्थान में आर्कीटेक्चरल असिस्टेेन्टशिप, कम्प्यूटर साइंस एण्ड इंजीनियरिंग तथा माडर्न आफिस मैनेजमेन्ट एण्ड सेक्रेट्रियल प्रैक्टिस पाठ्यक्रम चल रहे हैं। इस संस्थान में विकलांग छात्रों को निःशुल्क प्रशिक्षण, छात्रावासीय सुविधा, रु0 250.00 प्रतिमाह की भोज्य वृति तथा संस्था की निःशुल्क यूनीफार्म भी प्रदान की जाती है। उत्तर प्रदेश पुनर्गठन अध्यादेश-2000 के अनुच्छेद-71 में निहित प्राविधानों एवं इसकी 10वीं सूची के प्राविधानों के अन्तर्गत इस संस्थान में उत्तरांचल राज्य के विकलांग अभ्यर्थियों हेतु इस संस्थान में चल रहे उपरोक्त वर्णित पाठ्यक्रमों में 02 सीटें, इस प्रकार कुल 06 सीटें आरक्षित हैं। डा0 अम्बेडकर इन्स्टी0 फार फिजीकली हैण्डीकैप्ड, कानपुर मंे माडर्न आफिस मैनेजमेन्ट एण्ड सेक्रेट्रियल प्रेक्टिस पाठ्यक्रम में केवल अस्थि विकलांगता से प्रभावित तथा शेष सभी पाठ्यक्रमों में अस्थि अथवा श्रवण विकलांगता से प्रभावित अभ्यर्थी ही पात्र होंगे। वर्ष 2009-10 से स्ववित्त पोषित योजना के आधार पर 40 प्रवेश क्षमता के साथ इलेक्ट्रानिक्स इंजीनियरिंग का पाठ्यक्रम संचालित किया जा रहा है जिसमें राज्य सरकार के निर्देशानुसार रू0 17,500/- प्रतिवर्ष शिक्षण शुल्क लिया जाता है। पात्र अभ्यर्थियों को उत्तर प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार समाज कल्याण विभाग/संस्था स्तर से नियमानुसार छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है।
    प्राविधिक शिक्षा परिषद, उ0प्र0, लखनऊ से सम्बद्ध सभी संस्थाओं में चल रहे पाठ्यक्रमों में उत्तर प्रदेश के विकलांग अभ्यर्थियों हेतु प्रवेश क्षमता का 3% क्षैतिज प्रकृति का आरक्षण उपलब्ध है। इन संस्थाओं में विकलांग अभ्यर्थियों को सामान्य अभ्यर्थियों के अनुरूप ही सुविधायें उपलब्ध हैं। उपरोक्त श्रेणी में केवल ऐसे विकलांग अभ्यर्थी पात्र होंगे, जिनकी अक्षमता 40% अथवा उससे अधिक हो। प्रवेश के समय अपने जनपद के मुख्य चिकित्साधिकारी से प्रमाण-पत्र, जिसमें यह प्रमाणित हो कि अभ्यर्थी कम से कम 40% विकलांग है एवं ‘‘विकलांगता’’ की सुविधा प्राप्त करने का अधिकारी है, प्रस्तुत करना होगा। संस्था में छात्रों के प्रवेश के पूर्व पाठ्यक्रम विशेष हेतु अभ्यर्थी की उपयुक्तता का आकलन संस्था स्तर पर नियुक्त विशेषज्ञ द्वारा किया जायेगा।
  • शिक्षण शुल्क

    राजकीय संस्थायें 

  • राजकीय पालीटेक्निक संस्थाओं में सत्र 2010-11 से प्रारम्भ शासनादेश संख्या: 1371/सोलह-प्रा0शि0- 3-2010-246(बी)/91 दिनांक 30 अप्रैल, 2010 तथा संशोधन आदेश संख्या: 1371(क)/सोलह-प्रा0शि0-3- 2010-246(बी)/91 दिनांक 08 जून, 2010 द्वारा राजकीय पालीटेक्निक संस्थाओं में सत्र 2010-11 से प्रतिवर्ष शिक्षण शुल्क रू0 8,000/-, छात्र निधि शुल्क रू0 3,870/-, छात्रावास शुल्क रू0 800/- कुल रू0 12,670/- निर्धारित है। जिन संस्थाओं में छात्रावास की सुविधा उपलब्ध नहीं करायी जाती है उनसे छात्र निधि शुल्क रू0 3,870/- के स्थान पर केवल रू0 2,370/- एवं छात्रावास शुल्क रू0 800/- छोड़ते हुए कुल रू0 10,370/- लिये जायेंगे।
  • अनुदानित संस्थायें 

  • प्राविधिक शिक्षा परिषद, उ0प्र0, लखनऊ से सम्बद्ध 19 अनुदानित संस्थाओं में प्रवेश का विनियमन और फीस का नियतन अधिनियम 2006 के अन्तर्गत (समिति का गठन) नियमावली-2008 प्रवेश और फीस नियमन समिति, उत्तर प्रदेश प्राविधिक शिक्षा विभाग के पत्र संख्या: 298/प्र0फी0नि0स0/2010 लखनऊ 22 जुलाई, 2010 (website :- www.afrcup.in) द्वारा शुल्क रू0 17,500/- प्रतिवर्ष निर्धारित किया गया है, जो सत्र 2010-11 से आगामी दो वर्षों (कुल तीन वर्षों) के लिये लागू होगा। निर्धारित शुल्क में छात्रावास शुल्क की धनराशि को छोड़कर समस्त प्रकार के शुल्क सम्मिलित हैं। निर्धारित शुल्क रू0 17,500/- में शिक्षण शुल्क रू0 14,430/- तथा छात्र निधि शुल्क रू0 3,070/- देय है। सहायता प्राप्त संस्थाओं में स्ववित्त पोषित पाठ्यक्रम चलाये जा रहे हैं। डिप्लोमा स्तरीय अनुदानित पालीटेक्निक संस्थाओं में नियमित पाठ्यक्रमों के साथ चलाये जा रहे स्ववित्त पोषित पाठ्यक्रमों में देय शुल्क रूपये 21000/- शासनादेश संख्या-5418/ सोलह-प्रा0शि0-3-2010-12(बी)/2002, दिनांक 03 दिसम्बर, 2010 द्वारा निर्धारित किया गया है।
  • निजी क्षेत्र की संस्थयों 

  • निजी क्षेत्र की संस्थाओं में प्रवेश का विनियमन और फीस का नियतन अधिनियम 2006 के अन्तर्गत (समिति का गठन) नियमावली-2008 प्रवेश और फीस नियमन समिति, उत्तर प्रदेश प्राविधिक शिक्षा विभाग के पत्र संख्या: 413/प्र0फी0नि0स0/2010 दिनांक 25 अगस्त, 2010 (website :- www.afrcup.in) द्वारा सत्र 2010-11 से आगामी दो वर्षों के लिये (कुल तीन वर्षों के लिये) तीन वर्षीय इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों/फार्मेसी तथा होटल मैनेजमेन्ट पाठ्यक्रम में शुल्क रू0 28,000/- प्रतिवर्ष तथा दो एवं एक वर्षीय सभी अन्य पाठ्यक्रमों में शुल्क रू0 20,000/- निर्धारित किया गया है, निर्धारित शुल्क में छात्रावास शुल्क एवं जमानत की धनराशि को छोड़कर समस्त प्रकार के शुल्क सम्मिलित है।

आवेदन करने के विकल्प:

  • वर्ष-2014 की प्रवेश परीक्षा हेतु आनलाइन आवेदन करने की सुविधा उपलब्ध है।
  • प्रदेश के विभिन्न राजकीय, अनुदानित व निजी पालीटेक्निक संस्थाओं तथा जनपद एवं तहसील स्तरीय डाकघरों में आवेदन-पत्र निर्धारित अन्तिम तिथि तक उपलब्ध हैं, जिसका उपयोग किया जा सकता है। एक बार बिका हुआ आवेदन-पत्र वापस नहीं होगा।
  • काउन्सिलिंग प्रारम्भ होने तक सीटों की संख्या तथा आरक्षण शासनादेशके अधीन परिवर्तनीय है

  • प्राविधिक शिक्षा परिषद से सम्बद्ध समस्त राजकीय, अनुदानित व निजी क्षेत्र की डिप्लोमा स्तरीय संस्थाओं (विशिष्ट संस्थाओं को छोड़कर) में प्रवेश परीक्षा के माध्यम से प्रवेश हेतु आरक्षण नवीनतम शासनादेश के अधीन निम्नवत् सूचनीय हैः-
क्र0सं0 जिनके लिए आरक्षित हैं आरक्षित स्थान
(1) अनुसूचित जाति (S.C.) अभ्यर्थियों केलिए प्रत्येक पाठ्यक्रमवार समस्त प्रवेश सीटों का 21 प्रतिशत।
(2) अनुसूचित जनजाति (S.T.)  केअभ्यर्थियों के लिए प्रत्येक पाठ्यक्रमवार समस्त प्रवेश सीटों का 2 प्रतिशत।
(3) अन्य पिछड़े वर्ग (O.B.C.) केअभ्यर्थियों के लिए प्रत्येक पाठ्यक्रमवार समस्त प्रवेश सीटों का 27 प्रतिशत।
2. उक्त के अतिरिक्त निम्नांकितश्रेणी के अभ्यर्थियों को सम्मुख विवरणानुसार क्षैतिज प्रकृति का आरक्षण प्रदान किया जायेगा एव क्षैतिज आरक्षणों में मात्र एक आरक्षण ही अभ्यर्थी ले सकेगा।
(1) स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों (F.F.)के आश्रितों के लिए। प्रत्येक पाठ्यक्रमानुसार, समस्त प्रवेश सीटों का अधिकतम 2 प्रतिशत।
(2) उ0प्र0 के सेवानिवृत्त अथवा अपंग रक्षा कर्मियों अथवा युद्ध में मारे गये रक्षा कर्मियों अथवा उ0प्र0 में तैनात रक्षा कर्मियों के पुत्र-पुत्रियों को। (M.P.) प्रत्येक पाठ्यक्रमानुसार, समस्त प्रवेश सीटों का अधिकतम 5 प्रतिशत।
(3) शारीरिक रूप से विकलांग (P.H.)अभ्यर्थियों के लिए। प्रत्येक पाठ्यक्रमानुसार, समस्त प्रवेश सीटों का अधिकतम 3 प्रतिशत।
(4) महिला अभ्यर्थियों के लिए। प्रत्येक पाठ्यक्रमानुसार, समस्त प्रवेश सीटों का अधिकतम 20 प्रतिशत।
नोट  :
  • संयुक्त प्रवेश परीक्षा (पालीटेक्निक) के माध्यम से प्रवेश देने वाली संस्थाओं में अभ्यर्थियों को सीटों का आरक्षण शासन में सुसंगत शासनादेश के अधीन होगा, जो शासन द्वारा परिवर्तनीय है।
  • यदि कोई अभ्यर्थी प्रोविजनली चयनित हो जाने की दशा में अपने आरक्षण वर्ग तथा उपवर्ग होने का प्रमाण पत्र परिषद द्वारा निर्धारित प्रारूप पर कांउसिलिंग के समय प्रस्तुत नहीं करता है अथवा आरक्षण के सम्बन्ध में उनके द्वारा दिया गया वक्तव्य असत्य पाया जाता है तो उसे किसी अन्य वर्ग में समायोजित नहीं किया जायेगा एवं उसकी पात्रता/चयन निरस्त समझी जायेगी। आवेदन-पत्र में अभिलिखित श्रेणी एवं उप श्रेणी में किसी प्रकार का परिवर्तन का अनुरोध मान्य नहीं होगा।
  • यदि प्रवेश हेतु सम्बन्धित शैक्षिक सत्र में घोषित अन्तिम तिथि तक विभिन्न आरक्षित श्रेणियों के पर्याप्त अभ्यर्थी उपलब्ध नहीं होते हैं तो शासन द्वारा अनुमोदित प्रक्रिया के अनुसार कार्यवाही की जायेगी।
  • अन्य पिछड़ा वर्ग में क्रीमी लेयर के अन्तर्गत आने वाले अभ्यर्थियों को आरक्षण का लाभ अनुमन्य नहीं है।
  • विमुक्त जातियों को प्रवेश हेतु आरक्षण मान्य नहीं है तथा अनुसूचित जनजाति के रूप में मान्यता नहीं है।

सामान्य निर्देश 

उत्तर पुस्तिका का मूल्यांकन एवं निगेटिव मार्किग

  • सभी वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के उत्तर ओ0एम0आर0 शीट पर एच.बी. पेन्सिल द्वारा गोले काले कर देने होंगे।
  • वस्तुनिष्ठ प्रश्न पत्र में प्रत्येक प्रश्न में उत्तर के कुल 4 विकल्प होंगे और प्रत्येक प्रश्न के सही उत्तर पर 04 अंक दिये जायेंगे। उत्तर के चारों विकल्पों में सही उत्तर केवल एक ही होगा।
  • एक से अधिक गोलों को भरने पर उत्तर गलत माना जायेगा।
  • प्रत्येक गलत उत्तर पर एक निगेटिव अंक दिया जायेगा।
  • किसी भी प्रश्न का उत्तर न देने परनिगेटिव अंक नहीं दिये जायेंगे। अभ्यर्थियों को सलाह दी जाती है कि जिस उत्तर के बारे में वे सुनिश्चित न हों उसका हल न भरें।

योग्यताक्रम सूची

  • प्राविधिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश, लखनऊ से सम्बद्ध पालीटेक्निकों में चल रहे पाठ्यक्रमों में संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद, उ0प्र0 के माध्यम से प्रवेश पाने के लिए सभी अभ्यर्थियों को परिषद द्वारा निर्धारित न्यूनतम अर्हता अंक प्राप्त करना अनिवार्य होगा। अभ्यर्थियों द्वारा प्रवेश परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर योग्यताक्रम सूची तैयार की जायेगी।
  • काउन्सिलिंग 

  • प्रवेश हेतु पाठ्यक्रम एवं संस्था का आवंटन सीटों की उपलब्धता, अभ्यर्थी द्वारा दिये गये विकल्प एवं योग्यताक्रम व काउन्सिलिंग के आधार पर काउन्सिलिंग के माध्यम से किया जायेगा। परीक्षाफल घोषित होने के उपरान्त परिषद द्वारा काउन्सिलिंग के विस्तृत नियम, तिथि, समय, स्थान, प्रक्रिया एवं दिशा-निर्देश समाचार पत्रों एवं परिषद की वेबसाइट पर दिये जायेंगे।
  • आरक्षण सम्बन्धी प्रमाण-पत्र 

  • आरक्षण का लाभ अनुमन्य करने हेतु प्रमाण-पत्र संख्या-01 से 07 पर दर्शाये गये प्रमाण-पत्रों के उ0प्र0 शासन द्वारा निर्धारित नवीनतम् प्रारूप पर काउन्सिलिंग के समय प्रस्तुत करना होगा। उक्त प्रमाण-पत्र सक्षम अधिकारी द्वारा हस्ताक्षरित होना आवश्यक है। जो अभ्यर्थी आवेदन-पत्र में दर्शाये गये आरक्षण वर्ग के लिए सक्षम अधिकारी द्वारा हस्ताक्षरित प्रमाण-पत्र काउन्सिलिंग के समय प्रस्तुत नहीं कर पायेंगे, वे उस वर्ग के अन्तर्गत आरक्षण के लाभ के पात्र नहीं होंगे एवं इस सम्बन्ध में उनका कोई भी दावा मान्य नहीं होगा। अतः अभ्यर्थी को चाहिए कि वह आवेदन-पत्र भरते समय आरक्षण वर्ग तथा उपवर्ग के कालम का विशेष ध्यान रखें तथा आरक्षित वर्गों की सीटों हेतु तब ही आवेदन करंे, जब वे वाँछित प्रमाण-पत्र रखते हों एवं काउन्सिलिंग के समय प्रस्तुत कर सकें।
  • प्रवेश-पत्र 

  • प्रवेश-पत्र संयुक्त प्रवेश परीक्षा की तिथि से पूर्व, अभ्यर्थी द्वारा लिखित पते पर डाक द्वारा भेजा जायेगा। सामान्यतया प्रवेश-पत्र परीक्षा तिथि से पूर्व ही अभ्यर्थी को प्राप्त हो जायेगा। यदि किसी भी अभ्यर्थी को प्रवेश-पत्र परीक्षा तिथि के दो सप्ताह पूर्व तक न मिले तो परिषद की वेबसाइट www.jeecup.org से प्रवेश-पत्र डाउनलोड कर परीक्षा में बैठ सकता है। यदि अभ्यर्थी उपरोक्त कोई भी प्रवेश-पत्र प्राप्त करने में असफल रहता है तो वह अपने अनुक्रमांक एवं परीक्षा केन्द्र की जानकारी परिषद से प्राप्त कर परीक्षा केन्द्र पर रूपये पांच नकद तथा आवेदन-पत्र में प्रयुक्त फोटो की दो प्रतियाँ जमा कर प्रवेश-पत्र की द्वितीय प्रति प्राप्त कर सकता है। प्रवेश-पत्र को संस्था में प्रवेश लिये जाने तक सुरक्षित रखें एवं प्रवेश के समय प्रवेश समिति के समक्ष प्रस्तुत करें।
    कृपया प्रवेश-पत्र पर दिये गये निर्देशों का भी भली-भाँति अध्ययन कर लें।
  • प्रवेश परीक्षा केन्द्र

  • पाठ्यक्रम ग्रुप-। के समस्त पाठ्यक्रमों हेतु परीक्षा केन्द्र सामान्यतया जिला- मुख्यालयों/शहरों में हांेगे। परीक्षार्थी उन दो जनपद के नाम एवं कोड वरीयताक्रम में निर्धारित स्थान पर भरें, जहाँ से वे परीक्षा देना चाहते हैं। परिषद को यह अधिकार होगा कि किसी भी अभ्यर्थी को परीक्षा देने हेतु प्रदेश के जनपदों में कोई भी जनपद/परीक्षा केन्द्र आवंटित कर सकता है। परिषद द्वारा आवंटित परीक्षा केन्द्र में कोई परिवर्तन नहीं किया जायेगा। शेष अन्य ग्रुपों के पाठ्यक्रमों (B, C, D, E, F, G, H, I, J तथा K) हेतु केवल निम्न जनपदों में, जिनके कोड कोष्ठक में अंकित हैं, में परीक्षा केन्द्र बनाये जायेंगे।
  • 1. सहारनपुर (27) 2. मेरठ (29) 3. गाजियाबाद (30) 4. आगरा (34)
    5. हाथरस(40) 6. मैनपुरी (38) 7. बरेली (41) 8. मुरादाबाद (45)
    9. कानपुर नगर (49) 10 फर्रूखाबाद (52) 11. इलाहाबाद (55) 12. झाँसी (60)
    13. बांदा (65) 14 वाराणसी (66) 15. मिर्जापुर (70) 16. आजमगढ (73)
    17. गोरखपुर (76) 18 बस्ती (80) 19. लखनऊ (85) 20. रायबरेली (87)
    21. फैजाबाद (91) 22 गोण्डा (92)
  • यदि कोई अभ्यर्थी संयुक्त प्रवेश परीक्षा के पाठ्यक्रम ग्रुप कोड-A तथा अन्य गु्रपों (B,C,D,E,F,G,H,I,J तथा K) के पाठ्यक्रमों की परीक्षा में बैठने हेतु निर्धारित शैक्षिक अर्हताएं रखता है तथा यदि वह एक से अधिक पाठ्यक्रम ग्रुपों की परीक्षाओं में बैठने का इच्छुक है तो उसे प्रत्येक ग्रुप की परीक्षाओं हेतु अलग-अलग आवेदन-पत्र भरने होंगे। ऐसे अभ्यर्थी परीक्षा केन्द्र हेतु विकल्प उसी जनपद का दें, जो उसके द्वारा आवेदित मुख्य परीक्षा (ग्रुप-।) तथा अन्य पाठ्यक्रम ग्रुपों की परीक्षाओं के आयोजन हेतु भी निर्धारित है ताकि उन्हें उन पाठ्यक्रम ग्रुपों की परीक्षाओं (प्रातः पाली एवं सायं पाली/अगली तिथि की प्रातः पाली एवं सायं पाली) में सम्मिलित होने का अवसर मिल सके। अलग-अलग पाठ्यक्रम ग्रुपों में आवेदन-पत्र भरने से पूर्व अभ्यर्थी कृपया परीक्षा कार्यक्रम देखकर सुनिश्चित कर लें कि उसके द्वारा यदि एक से अधिक पाठ्यक्रम ग्रुपों में आवेदन किया गया है तो उनकी परीक्षा तिथियां एवं समय अलग-अलग हों एवं परीक्षा केन्द्र उसी जनपद में हों, जिससे परीक्षा में सम्मिलित होने में असुविधा न हो।
  • प्रवेश परीक्षा का परीक्षाफल 

  • संयुक्त प्रवेश परीक्षा के आधार पर परीक्षाफल समाचार-पत्र/पत्रों में मई माह में प्रकाशित किया जायेगा तथा इन्टरनेट पर परिषद की वेबसाइट पर भी उपलब्ध होगा।
  • परीक्षार्थियों के लिए निर्देश

  • समय. परीक्षार्थी को परीक्षा आरम्भ होने के आधा घण्टा पूर्व परीक्षा केन्द्र पर पहुंच जाना चाहिये तथा परीक्षा केन्द्र पर लगे सीटिंग प्लान में अपना निर्धारित कक्ष देखकर परीक्षा कक्ष में पहुंचना चाहिये। इस कार्य में शीघ्रता करनी चाहिये, जिससे कि वह परीक्षा कक्ष में परीक्षा आरम्भ होने से 20 मिनट पूर्व पहुंच सकें।
  • लेखन सामग्री- परीक्षा कक्ष में परीक्षार्थी केवल HB पेन्सिल, अच्छे किस्म का रबर, पेन्सिल कटर तथा बाल पेन के अतिरिक्त ऐसी कोई अन्य सामग्री न लायें जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से परीक्षा में सहायक हो सके, क्योंकि ऐसी सामग्री का अभ्यर्थी के पास पाया जाना अनुचित साधन माना जा सकता है। लागटेबुल, इलेक्ट्रानिक कैलकुलेटर, स्लाइड रूल तथा किसी भी प्रकार का दूरभाष यन्त्र परीक्षा कक्ष में लाना वर्जित है। HB पेन्सिल के अतिरिक्त किसी अन्य प्रकार की पेन्सिल का प्रयोग न करें।
  •  प्रवेश-पत्र- परीक्षार्थी अपने साथ प्रवेश-पत्र अवश्य लायें, जिससे परीक्षा कक्ष में परिनिरीक्षक, केन्द्र अधीक्षक व सम्बन्धित अधिकारी द्वारा मांगे जाने पर अवश्य प्रस्तुत करें। बिना प्रवेश-पत्र परीक्षा कक्ष में जाने से वंचित कर दिया जायेगा।
  •  उत्तर चार्ट-परीक्षार्थी उत्तर चार्ट को भरने में पूर्ण सावधानी बरते। उत्तर चार्ट में सभी वांछित प्रविष्टियाँ स्पष्ट रूप से भरनी आवश्यक है। प्रविष्टियाँ अपूर्ण या अस्पष्ट होने से मूल्यांकन न होने पर होने वाली हानि का पूर्ण उत्तरदायित्व परीक्षार्थी का होगा। परीक्षार्थियों की सुविधा हेतु उत्तर चार्ट का नमूना दिया गया है। परीक्षा कक्ष में परिनिरीक्षक द्वारा दिया गया उत्तर चार्ट कम्प्यूटर के प्रयोगार्थ है अतः सभी प्रविष्टियों को अंग्रेजी में ही भरना अनिवार्य है। अंकों हेतु विश्वमान्य संख्याओं (Universal Numerals-1, 2, 3, 4, 5 इत्यादि) का ही प्रयोग किया जाये।
  • संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश, लखनऊ को विशेष परिस्थितियों में प्रवेश परीक्षा को निरस्त करने अथवा उसे पुनः कराने का अधिकार रहेगा।

प्रश्न-पत्र तथा उत्तर चार्ट के सम्बन्ध में निर्देश

  • आपको परीक्षा कक्ष में परिनिरीक्षक द्वारा सर्वप्रथम एक विशेष प्रकार का उत्तर चार्ट (OMR) दिया जायेगा। आप इस विशेष उत्तर-चार्ट पर प्रविष्टियॉ पूर्ण करने से पूर्व भली-भाँति चेक कर लें कि कहीं यह गंदा, कटा-फटा, मुड़ा, सिलवट पड़ा या गोल मोड़ा गया तो नहीं है और इस पर किसी प्रकार के दाग, धब्बे तो नहीं हैं क्योंकि ऐसे उत्तर चार्ट को कम्प्यूटर द्वारा सही-सही नहीं पढ़ा जा सकेगा, जिससे आपको हानि हो सकती है। अतः ऐसे उत्तर चार्ट को तुरन्त परिनिरीक्षक से कह कर बदल लें। परीक्षा आरम्भ होने के 5 मिनट पूर्व आपको एक प्रश्न-पुस्तिका दी जायेगी, जिसमें दिये गये प्रश्नों के उत्तर, उत्तर चार्ट में भरने होगे। 
  • उत्तर चार्ट पर वाँछित सभी सूचनाएं जैसे अनुक्रमांक (अंकों एवं शब्दों में), वर्ग (CATEGORY), उपवर्ग (SUB-CATEGORY) अभ्यर्थी तथा परिनिरीक्षक के हस्ताक्षर आदि को केवल बाल पेन से ही भरना है। जैसे ही उत्तर-चार्ट आपको प्राप्त होता है, उत्तर चार्ट की सारी प्रविष्टियों को बाल पेन से भर लें एवं जो न लागू होता हो, उसे काट दें। उत्तर चार्ट पर अनुक्रमांक, केन्द्र संख्या तथा प्रश्न पुस्तिका संख्या हेतु बने निर्धारित स्थानों पर बाल पेन से प्रविष्टि करें तथा भ्ठ पेन्सिल से सम्बन्धित अंक के खानों को काला करें। 
    उत्तर चार्ट में प्रश्नों के उत्तर देने हेतु गोलों में विभिन्न अंक लिखे हैं। प्रश्नों के उत्तर से सम्बन्धित अंक को केवल HB पेन्सिल से गहरा काला भरना है। किसी अन्य प्रकार की पेन्सिल जैसे-H, 2H, 3H, B, 2B, 3B आदि का प्रयोग न करें अन्यथा आपके उत्तर-चार्ट में पेन्सिल से बनाया गया चिन्ह (काला निशान) कम्प्यूटर स्कैनर द्वारा ठीक से नहीं पढ़ा जा सकेगा, जिससे आपको हानि हो सकती है, जिसके लिए अभ्यर्थी स्वयं जिम्मेदार होगा। इस पर उत्तर हेतु निर्धारित खानों के ऊपर बने सादे खानों में काले किये गये खानों की संख्या को बाल पेन से अंकों में लिखें तथा इन संख्याओं का कतारवार (क्षैतिज योग) दाहिनी ओर येाग हेतु बने सादे खाने में शब्दों तथा अंकों में बाल पेन से भरना है। कृपया सुनिश्चित कर लें कि उत्तर-चार्ट की सभी प्रविष्टियां पूर्ण भर दी गई हैं एवं परिनिरीक्षक द्वारा निर्धारित स्थान पर हस्ताक्षर कर दिये हैं।
  • आपका अनुक्रमांक (ROLL NUMBER) सात अंकों का होगा (अनुक्रमांक की डिजिट में परिवर्तन हो सकता है)। मुख्य परीक्षा में प्रयुक्त होने वाले ओ0एम0आर0 उत्तर चार्ट में अनुक्रमांक लिखने के लिए एक कतार में सात खाने दिये गये हैं। प्रत्येक खाने के नीचे गोले बने हैं। जिनमें 0 से 9 तक अंक लिखे हैं। ऊपर बने खानों में आप अपना अनुक्रमांक बाल पेन से अंग्रेजी अंकों में लिख दें तथा उससे सम्बन्धित नीचे बने गोले को HB पेन्सिल से काला कर दें।
    नोट:- फार्मेसी पाठ्यक्रम ग्रुप-E के लिए प्रयुक्त होने वाले उत्तर चार्ट में खण्ड-2 में बायलोजी तथा गणित विषयों से सम्बन्धित अभ्यर्थियों के लिए दो खाने बने हुए हैं। यदि अभ्यर्थी बायलोजी विषय के प्रश्नों को हल करना चाहता है, तो बायलोजी के लिए बने गोले को भ्ठ पेन्सिल से काला करें। इसी प्रकार यदि गणित के प्रश्नों को हल करना चाहता है तो गणित के लिए बने गोले को काला करें। पाठ्यक्रम ग्रुप-E में आवेदन करने वाले अभ्यर्थी उक्त प्रविष्टि को ध्यान से अवश्य पूर्ण करें अन्यथा उनका मूल्यांकन किया जाना सम्भव नहीं होगा। इसी प्रकार गु्रप-ज्ञ के अभ्यर्थी अपने उपवर्ग (यथा K1, K2, ... K7) में से स्वयं द्वारा हल किये जाने वाले उप खण्ड से सम्बन्धित गोले को काला करेंगे, अन्यथा की स्थिति में ओ0एम0आर0 शीट की जांच सम्भव नहीं होगी, जिसके लिए अभ्यर्थी स्वयं उत्तरदायी होगा।  
  • केन्द्र संख्या (CENTRE No.) लिखने के लिए कतार में चार बाक्स बने हैं। प्रत्येक बाक्स के नीचे दस गोले हैं, जिनमें 0 से 9 तक अंक लिखे हैं। बाक्सों में केन्द्र संख्या बाल पेन से अंग्रेजी में (NUMERALS) लिख दें। एक बाक्स में एक ही अंक लिखें और उसके संगत अंक वाले गोले को भ्ठ पेन्सिल से काला कर दें। 
  • प्रश्न-पुस्तिका संख्या लिखने के लिए एक लाइन में छः बाक्स बने हुए हैं। आपको परीक्षा कक्ष में मिली प्रश्न-पुस्तिका में ऊपर की ओर दायीं ओर जो क्रम संख्या अंकित है, उसे बिन्दु-4 की भाँति भरें। 
  • प्रश्न पत्र में प्रत्येक प्रश्न के नीचे चार वैकल्पिक उत्तर दिये होंगे, इनमें से जिस उत्तर को आप सही समझते हों, उसका उत्तर (विकल्प) संख्या चुनकर, उत्तर चार्ट में दिये गये प्रश्न की क्रम संख्या के नीचे दिये गये सही उत्तर (विकल्प संख्या) वाले गोले को पूरा पूरा HB पेन्सिल से काला कर दें, अन्त में इस प्रकार के सभी नम्बरों का क्षैतिज योग दिये गये ब्लाकों के आगे खाने में निर्धारित स्थान पर शब्दों तथा अंकों में लिख दें। यदि किसी प्रश्न का उत्तर नहीं देना है तो प्रश्न संख्या के नीचे बने सादे खाने को क्रास कर दें। ऐसा करने से आपका हित सुरक्षित रहेगा। अतः इस कार्य को बिल्कुल न भूलें। 
  • परीक्षा प्रारम्भ होने का संकेत मिलते ही आप प्रश्न-पुस्तिका को खोलकर भली-भाँति जाँच कर लें कि उसमें पूरे सौ (100) प्रश्न क्रमानुसार छपे हैं तथा कहीं प्रिन्ट (PRINT) छूटा तो नहीं है अथवा कटी-फटी या अपूर्ण तो नहीं है। यह भी जाँच कर लें कि प्रश्न-पुस्तिका के मुख पृष्ठ पर प्रश्न-पुस्तिका संख्या स्पष्ट एवं पठनीय है। ऐसा न होने पर तुरन्त प्रश्न-पुस्तिका बदल लें, तत्पश्चात् आप प्रश्नों को हल करना प्रारम्भ करें। सभी रफ कार्य (ROUGH WORK) प्रश्न-पुस्तिका पर ही करें। उत्तर चार्ट (OMR) पर रफ कार्य कदापि न करें, क्योंकि ऐसा करने पर आपका उत्तर चार्ट कम्प्यूटर द्वारा सही नहीं जाँचा जायेगा।  
  • उत्तर चार्ट में प्रत्येक प्रश्न के उत्तर के लिए प्रश्न की क्रम संख्या के नीचे गोले बने हैं, जिन पर 1, 2, 3, व 4 अंक अंकित हैं। प्रश्न-पत्र में प्रत्येक प्रश्न के नीचे वैकल्पिक उत्तर 1, 2, 3, व 4 अंकों द्वारा दर्शाये गये हैं। आपको इनमें से उस प्रश्न का सही उत्तर (विकल्प संख्या) चुनना है। अब आपको उत्तर चार्ट में प्रश्न की क्रम संख्या के नीचे दिये गये सही उत्तर (विकल्प संख्या) वाले गोले को पूरा HB पेन्सिल से काला भरना है। उदाहरणतया-यदि प्रश्न संख्या 21 का सही उत्तर 1 है तो उसे उत्तर चार्ट पर चित्रानुसार दर्शाया जाना चाहिये। (देखिये चित्र-एक) अर्थात् प्रश्न संख्या 21 के नीचे खाना-1 को HB पेन्सिल से पूरा काला भर दें, फिर ऊपर बने सादे खाने में बाल पेन से 1 अंकित कर दें। पुनःश्च ध्यान रहे कि उत्तर काला करने के लिये स्याही वाले पेन या बाल पेन का प्रयोग किसी भी दशा में नहीं करना है तथा अन्य पेन्सिलें भ्ए 2भ्ए 3भ् आदि का प्रयोग भी न करें, क्योंकि उक्त पेन्सिलों द्वारा बनाए गए चिन्ह बहुत हल्के होंगे और कम्प्यूटर (आप्टिकल स्कैनर) द्वारा नहीं पढ़े जा सकेंगे।

ग्रुप-K में प्रवेश हेतु पाठ्यक्रम का नाम, कोड, अवधि, प्रवेश अहर्ता एवं उपखण्ड का कोड